Monthly Archives: March 2019

क्रिश्चियन कालेज आफ इंजीनियरिंग एण्ड टेक्नोलाजी के डा. जोजी थॉमस को पीएचडी

DR Joji Thomas CCET Bhilaiभिलाई। क्रिश्चियन कालेज आफ इंजीनियरिंग एण्ड टेक्नोलाजी के डा. जोजी थॉमस को उनके विषय, ‘स्टडीज आॅन सम आस्पेक्ट्स आॅफ मेटा हियूरिस्टिक अल्गोरिथम्स इन सॉल्विंग इंजीनियरिंग आॅप्टिमाइजेशन प्रॉब्लम’ के लिए एन आई टी, राउरकेला के द्वारा पीएचडी की डिग्री प्रदान की गयी। उन्होंने अपना शोध कार्य एनआईटी, राउरकेला के मेकेनिकल विभाग के प्रोफेसर डा. एस एस महापात्रा के मार्गदर्शन में पूरा किया। डा. थॉमस ने अपने विषय के संदर्भ में कई शोध पत्र राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय जनरल में प्रकाशित किये।

11वीं में डॉ. संतोष राय इंस्टीट्यूट के स्टूडेंट्स की शानदार सफलता

भिलाई। संतोष राय इंस्टीट्यूट में बी.कॉम क्रैश कोर्स की कक्षाएं 2 जनवरी से प्रारंभ हो रही हैं। संस्था संचालक डॉ. संतोष राय ने बताया कि बी. कॉम. के सभी विषयों को 45 दिन में पढ़ाया जाएगा। वहीं साप्ताहिक एवं मासिक टेस्ट द्वारा छात्रों का मूल्यांकन किया जाएगा। भिलाई। सीए/सीएमए/सीएस में शानदार परीक्षा परिणाम देने वाली संस्था डॉ. संतोष राय इंस्टीट्यूट में 11वीं में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं ने शानदार सफलता अर्जित की हैं। 11वीं में दिशा कारिया प्रथम स्थान (विश्वद्वीप स्कूल), उत्सव शर्मा प्रथम स्थान (एमवीएन स्कूल), साबिया फिरदौस प्रथम स्थान (एमबीवीबी स्कूल), पूजा टोप्पो प्रथम स्थान (शंकराचार्य स्कूल हुडको), हनी अग्रवाल द्वितीय स्थान (केपीएस नेन), अक्षर गुप्ता तृतीय स्थान (इंदू आईटी स्कूल), अनुष्का पाठक तृतीय स्थान (एसएसवी से.10 स्कूल), राशी बोहरा तृतीय स्थान (केपीएस नेन), नेहा गुप्ता चतुर्थ स्थान (इंदू आईटी स्कूल), नयन पण्डा चतुर्थ स्थान (केपीएस नेन),

एमजे कालेज में अग्निशमन का मॉक ड्रिल, आग पर नियंत्रण करने का प्रभावी प्रदर्शन

MJ College Mock Drill Fireभिलाई। एमजे कालेज में आज अग्निशमन का मॉक ड्रिल किया गया। इसमें प्राचार्य डॉ कुबेर सिंह गुरुपंच ने अग्निशमन यंत्रों का उपयोग समझाते हुए आग पर नियंत्रण करने का प्रभावी प्रदर्शन किया। उन्होंने परिसर में बोरी और पैकिंग की लकडिय़ों में आग लगाने के बाद अग्नि शमन यंत्र का उपयोग कर उसे बुझाया। इसके बाद नर्सिंग महाविद्यालय एवं फार्मेसी कॉलेज के बच्चों ने भी इस प्रक्रिया को दोहराया। महाविद्यालय की डायरेक्टर श्रीलेखा विरुलकर ने बताया कि ग्रीष्म ऋतु के दौरान तापमान में वृद्धि के कारण सूखी वस्तुओं की ज्वलनशीलता में वृद्धि हो जाती है।

भिलाई महिला समाज स्मृति नगर की उषा बनीं सचिव

Bhilai Mahila Samajभिलाई। भिलाई महिला समाज की स्मृति नगर इकाई ने गत दिवस सम्पन्न अपनी बैठक में एक बार फिर उषा श्रीवास्तव को अपना सचिव चुन लिया है। श्रीमती उषा श्रीवास्तव पहले भी इस इकाई की अध्यक्ष रही हैं। पिछली कार्यकारिणी में भी वे कोषाध्यक्ष रही हैं। सर्वसम्मति से सचिव चुने जाने के बाद श्रीमती श्रीवास्तव ने अपनी कार्यकारिणी की भी घोषणा कर दी। संयुक्त सचिव अनिता अग्रवाल, कोषाध्यक्ष सुरेखा देशमुख एवं संयुक्त कोषाध्यक्ष सुधा गुप्ता को मनोनीत किया गया है। उल्लेखनीय है कि महिला समाज की ये सभी इकाइयां भिलाई की शीर्ष संस्था भिलाई महिला समाज के अधीन कार्य करती हैं।

कल्याण महाविद्यालय में विज्ञान दिवस पर पोस्टर-पेन्टिंग स्पर्धा

Kalyan Mahavidyalayaभिलाई। राष्ट्रीय विज्ञान दिवस उत्सव-2019 के अंतर्गत आयोजित अंतर्महाविद्यालयीन वाद-विवाद तथा पोस्टर पेन्टिग स्पर्धा कल्याण महाविद्यालय में सम्पन्न हुई।  राष्ट्रीय विज्ञान व प्रौद्योगिकी संचार परिषद, भारत सरकार तथा छत्तीसगढ़ विज्ञान व प्रौद्योगिकी परिषद के सौजन्य से कल्याण स्नातकोत्तर महाविद्यालय में सम्पन्न इन स्पर्धाओं के परिणाम घोषित किये गये। ‘सदन की राय में, विज्ञान ने मानव जीवन को सहज व खुशहाल बनाया है’ विषय पर आयोजित वाद-विवाद स्पर्धा में कल्याण स्नातकोत्तर महाविद्यालय के छात्र हितेन्द्र साहू ने पक्ष में तथा शासकीय तामस्कर स्नातकोत्तर महाविद्यालय दुर्ग की छात्रा कु प्रतिक्षा तिवारी ने विपक्ष में प्रथम स्थान प्राप्त किया।

डॉ संतोष राय इंस्टीट्यूट को मुख्यमंत्री के हाथों मिला कॉमर्स एक्सीलेंसी अवार्ड

Dr Santosh Rai Classesभिलाई। रायपुर में संपन्न एक कार्यक्रम में छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भिलाई के डॉ. संतोष राय इंस्टीट्यूट को ‘मोस्ट ट्रस्टेड कॉमर्स इंस्टीट्यूट आॅफ छत्तीसगढ़’ के अवॉर्ड से नवाजा गया। कार्यक्रम में प्रमुख रूप से श्री रविन्द्र चौबे कृषि मंत्री छत्तीसगढ़ शासन एवं पूर्व उच्च शिक्षा मंत्री प्रेम प्रकाश पाण्डे उपस्थित थे। भिलाई तथा बिलासपुर से संचालित संस्था छत्तीसगढ़ में कॉमर्स की अग्रणी संस्था है जहां सी.ए./सी.एम.ए./सी.एस./बी.कॉम. तथा 11वीं, 12वीं कॉमर्स की कक्षाएं संचालित की जाती हैं।

टेक्नोलॉजिया-2019 – पर्यावरण संतुलन के साथ हो सतत विकास : डॉ आर एन पटेल

CCET Technologiaभिलाई। क्रिश्चियन कालेज आफ इंजिनियरिंग एण्ड टेक्नोलाजी (सीसीईटी) में 28 मार्च को 17 वां एक दिवसीय राष्ट्रीय सेमीनार, ‘सतत विकास के लिए बहुविषयक नवोन्मेष’ (मल्टीडिसिप्लिनरी इनोवेशंस फॉर सस्टेनेबल डेवलपमेंट) थीम पर टेक्नोलॉजिया-2019 का उद्घाटन सीसीईटी, भिलाई के अध्यक्ष बिशप डॉ जोसेफ मार डायोनिसियस, कार्यकारी उपाध्यक्ष फादर जोस के वर्गीस, प्राचार्या डॉ दिपाली सोरेन, एनआईटी, रायपुर के इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग विभाग के एसच्सिएट प्रच्फेसर डॉ आर एन पटेल, आई आई टी भिलाई के रसायन शास्त्र के असिस्टेंट प्रोफेसर संजीब बनर्जी एवं अन्य सम्मान्नीय अतिथियों की उपस्थिति में किया गया।

भिलाई महिला महाविद्यालय में प्री-बी.एड. परीक्षा हेतु छात्राओं को नि:शुल्क कोचिंग

bhilai mahila mahavidyalayaभिलाई। भिलाई महिला महाविद्यालय, हॉस्पीटल सेक्टर के शिक्षा विभाग द्वारा छ.ग. व्यापम द्वारा 7 जून 2019 को आयोजित की जाने वाली प्री-बी.एड. परीक्षा हेतु छात्राओं को नि:शुल्क कोचिंग प्रदान की जाएगी। इसके लिये रजिस्ट्रेशन प्रारंभ हो चुका है तथा कक्षाएँ 10 अप्रैल से प्रारंभ होंगी। भिलाई महिला महाविद्यालय के शिक्षा विभाग की हेड डॉ. मोहना सुशांत पंडित ने बताया कि राज्य के शासकीय शालाओं में शिक्षकों की भर्ती प्रारंभ होने से बी.एड. कोर्स में छात्राओं का रूझान बढ़ा है और इस वर्ष भी बी.एड. कोर्स में प्रवेश हेतु भारी प्रतिस्पर्धा रहने की संभावना है।

रूंगटा फार्मेसी कॉलेज में फार्मेसी शिक्षकों ने सीखा प्रभावी टीचिंग लर्निंग का तरीका

Rungta College of Pharmacyभिलाई। रूंगटा कॉलेज आॅफ फार्मास्यूटीकल्स साइंसेस एण्ड रिसर्च (आरसीपीएसआर) में फार्मेसी काउंसिल आॅफ इंडिया द्वारा प्रायोजित कंटीन्यूइंग एजुकेशन प्रोग्राम (सीइपी) के तहत आयोजित ‘इफेक्टिव टीचिंग-लर्निंग इन फार्मेसी एजुकेशन’ विषय पर तीन-दिवसीय कार्यशाला का समापन हो गया। कार्यक्रम की मुख्य अतिथि इंस्टीट्यूट आॅफ फार्मेसी, पं. रविशंकर विश्वविद्यालय की प्रोफेसर तथा डीन डॉ. स्वर्णलता सराफ थीं। अध्यक्षता संतोष रूंगटा ग्रुप आॅफ इंस्टीट्यूशन्स के चेयरमेन संतोष रूंगटा ने की।

विद्वान बनने से ज्यादा जरूरी है बुद्धिमान बनना ताकि ज्ञान का सदुपयोग हो : श्रीलेखा

shreelekha virulkarभिलाई। एमजे कालेज की डायरेक्टर श्रीलेखा विरुलकर का मानना है कि इंसान बनने के लिए विद्वान बनने से भी कहीं ज्यादा जरूरी है बुद्धिमान बनना ताकि उचित अनुचित का फैसला किया जा सके। सामूहिक नरसंहार के हथियारों के पीछे भी विज्ञान है और जीवन की रक्षा करने में भी विज्ञान ही काम आता है। मानवता की रक्षा के लिए ज्ञान और विज्ञान को सही दिशा दिये जाने की जरूरत है। जल संरक्षण पर टीम एमजे को संबोधित करते हुए श्रीलेखा ने कहा कि वैज्ञानिक प्रगति ने जहां जीवन को आसान बनाने के लिए कई उपकरण दिए वहीं सामूहिक नरसंहार के हथियार भी दिए।