Cadaveric and live liver donors, both give excellent results : Dr Swapnil Sharma

लिवर खराब हो गया हो तो प्रत्यारोपण ही एकमात्र उपाय – डॉ स्वप्निल शर्मा

भिलाई। यदि आपका लिवर (यकृत) खराब हो गया हो तो प्रत्यारोपण ही एकमात्र उपाय रह जाता है। यकृत एक पाचन रस उत्पन्न करने वाला अंग है जिसकी जगह कोई मशीन नहीं ले सकती। लिवर प्रत्यारोपण की सफलता दर काफी अच्छी है। लिवर जीवित या मृत दानदाता से प्राप्त किया जा सकता है। यह कहना है फोर्टिस मुम्बई के लिवर प्रत्यारोपण विशेषज्ञ डॉ स्वप्निल शर्मा का। उनकी सेवाएं हाईटक सुपरस्पेशालिटी अस्पताल में उपलब्ध हैं। इसके लिए अग्रिम पंजीयन अनिवार्य है।डॉ स्वप्निल ने बताया कि लिवर फंक्शन में आपकी मदद करने के लिए फिलहाल ऐसा कोई यांत्रिक उपकरण उपलब्ध नहीं है जैसा कि किडनी, हृदय या फेफड़ों के लिए उपलब्ध होता है। इसलिए एंड स्टेज लिवर डिसीज (अंतिम अवस्था) में लिवर प्रत्यारोपण ही एकमात्र उपाय रह जाता है। यकृत जीवित दानदाता से या मृतशरीर से प्राप्त किया जाता है। दोनों ही मामलों में सफलता का प्रतिशत समान है। जीवित डोनर से जहां लिवर का एक भाग ही लिया जाता है वहीं मृत डोनर से पूरा लिवर मिल जाता है। लिवर की सबसे खास बात यह है कि इसमें स्वयं को पूर्ण रूप से विकसित करने की क्षमता होती है। जीवित दानदाता का लिवर भी 4 से 6 सप्ताह में पूर्ण विकसित हो जाता है।
लिवर की बीमारी के लक्षणों की चर्चा करते हुए डॉ स्वप्निल ने बताया कि पीलिया, पैरों में सूजन, भोजन की इच्छा नहीं होना, चक्कर आना, मितली आना, खून की उल्टी होना, पेट में सूजन, वजन का गिरना आदि लिवर की बीमारी के लक्षण हो सकते हैं। उन्होंने बताया कि लिवर की कुछ बीमारियां जन्म से होती हैं जो कई साल बाद प्रकट होती हैं। इसके अलावा अत्यधिक शराब, फैटी लिवर तथा हेपेटाइटिस ए, बी, सी या वारयस के संक्रमण से भी लिवर बीमार हो सकता है। लिवर स्वयं अपनी मरम्मत करने की क्षमता खो देता है। यह वयस्कों एवं बच्चों को समान रूप से प्रभावित करता है।
डॉ स्वप्निल ने बताया कि देश में होने वाले अधिकांश लिवर ट्रांसप्लांट के मामलों में जीवित डोनर से लिवर का अंश प्राप्त किया जाता है। जागरूकता और सही समय पर काउंसलिंग के अभाव में बहुत कम कैडेवेरिक डोनर उपलब्ध हो पाते हैं। एक कैडेवेरिक डोनर से प्राप्त लिवर से एक वयस्क एवं एक बच्चे को नया जीवन दिया जा सकता है। लिवर फेल के बढ़ते मामलों को देखते हुए इस दिशा में जागरूकता लाने की जरूरत है।
डॉ स्वप्निल को सभी प्रकार की लिवर सर्जरी में दक्षता हासिल है। इनमें एचपीबी सर्जरी, लिवर कैंसर की सर्जरी, पोर्टल हाइपरटेंशन सर्जरी शामिल है। अधिक जानकारी एवं पंजीयन के लिए 8860315672 या 9769933452 पर सम्पर्क किया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *