बेमेतरा में डायरिया नियंत्रण पखवाड़ा, सिखा रहे ओआरएस घोल बनाना

Diarrhea Control in Bemetaraबेमेतरा। जिले में गहन डायरिया नियंत्रण पखवाडा 8 से 21 जुलाई तक चलाई जा रही है। इसके तहत बाल मृत्यु के मुख्य कारण डायरिया से बचाव शीघ्र निदान एवं उपचार कर शिशु मृत्यु दर में कमी लाये जाने की कोशिश की जा रही है। गहन डायरिया नियंत्रण पखवाडे के माध्यम से घरेलू स्तर पर ओआरएस घोल बनाने की विधि, बच्चों में निर्जलीकरण के लक्षणों को पहचानने की जानकारी, निर्जलीकरण से बचाव के लिए ओआरएस व जिंक की गोली आयु अनुसार दिए जाने, स्वच्छता नियमित हाथ धुलाई की प्रक्रिया अपनाने तथा आपातकालीन स्थिति में नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्रों में ले जाने की जानकारी दी जा रही है।डायरिया की रोकथाम एवं प्रबंधन हेतु समुदाय/ग्राम स्तर पर मितानिनों के द्वारा 06 माह से 5 वर्ष तक के बच्चों के घरो में ओ.आर.एस.पैकेट का वितरण करके उपयोग के बारे में जानकारी तथा सलाह दिया जायेगा साथ ओ.आर.एस. व जिंक की घोल बानाने की विधि का प्रदर्शन कर जानकारी समुदाय व ग्राम स्तर पर दी जायेगी। इस दौरान फिजिकल डिस्टेंसिंग, हैण्डवाॅस और मास्क का उपयो करते हुए कोविड-19 के दिशा निर्देश का पालन करते हुए गतिविधि की जायेगी। मितानिन के द्वारा सभी परिवार को स्वच्छता की जानकारी दी जा रही है, मितानिनों के द्वारा डायरिया केस की पहचार करके ए.एन.एम./स्वास्थ्य केन्द्रों में रिफर करने एवं मां को खतरे के संकेत को पहचानने की शिक्षा भी इस कार्यक्रम के माध्यम से दी जावेगी। उक्त कार्यक्रम के दौरान स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं एवं मितानिनों के माध्यम से ग्राम स्तर पर गृह भ्रमण करके हाथ धोने की विधि व हाथ की स्वच्छता के संबंध में जानकारी दी जावेगी। पखवाडे के दौरान सेवा प्रदान करते हुए स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं एवं मितानिनों को कोविड-19 महामारी के बचाव हेतु सेवा प्रदान करते हुए फिजिकल डिस्टेंसिंग, हाथ धोना, रेसपायरेटरी हाईजीन को बनाये रखना। नाॅन कंटेनमेंट जोन में स्थानीय परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए घरो में तथा कुएं/जल स्त्रोंतों की साफ-सफाई एवं संक्रमण को रोकने हेतु क्लोरीन टेबलेट्स वितरीत करना इत्यादी गतिविधियां की जायेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *