Quality of online teaching appreciated in PTA Meeting of Science College

साइंस कालेज के पीटीए मीटिंग में ऑनलाइन कक्षाओं को मिली सराहना

दुर्ग। शासकीय विश्वनाथ यादव तामस्कर स्नातकोत्तर स्वशासी महाविद्यालय, दुर्ग के अंग्रेजी विभाग द्वारा पालक शिक्षक (पीटीए) का आयोजन को वर्चुअल प्लेटफार्म पर किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए विभाग की डॉ सुचित्रा गुप्ता ने सभी पालकों एवं छात्रों का अभिनंदन करते हुए पीटीए के मुख्य उद्देश्यों को रेखांकित किया। उन्होंने बताया कि हर वर्ष अभिभावक-शिक्षक मीटिंग का आयोजन छात्र-छात्राओं के संपूर्ण विकास एवं विभाग को और बेहतर करने के उद्देश्य से किया जाता है। कोविड-19 महामारी के कारण कक्षाओं का संचालन ऑनलाइन किया जा रहा है।  उन्होंने कहा कि विद्यार्थियों एवं उनके पालकों से इसकी सफलता एवं उपयोगिता की जानकारी लेना इस माध्यम द्वारा सुनिश्चित किया गया। एम.ए. सेमेस्टर वन एवं एम.ए. सेमेस्टर तीन के विद्यार्थी एवं उनके पालक इस कार्यक्रम में जुड़े। सभी ने कहा कि प्राध्यापकों द्वारा ऑनलाईन पढ़ाई बहुत ही बढ़िया तरीके से कराई जा रही है। उन्हें विषय से संबंधित संपूर्ण जानकारी भी उपलब्ध की जा रही है।
डॉ सुचित्रा गुप्ता द्वारा हर छात्र एवं उनके पालकों से वार्तालाप करने के दौरान कई छात्रों ने अपनी समस्याओं का उल्लेख किया। एम.ए. के छात्र मिंटू सिंग ने कहा ऑनलाईन कक्षाओं से कुछ टॉपिक समझ में नहीं आ पाते। छात्रों को इस अवसर पर यह बताया गया कि वे कोविड-19 के सुरक्षा नियमों का पालन करते हुए महाविद्यालय में आकर संबंधित प्राध्यापक से अपनी समस्याओं का निवारण कर सकते है। एम.ए. सेमेस्टर प्रथम की ही पल्लवी सोनकर, नेहा शर्मा, पुष्पा, स्नेहा, मेघा चंदानी, पायल एवं एम.ए. सेमेस्टर तीन के देवराज, भावना, हिमांशी, गौरव ने भी अपने विचार प्रस्तुत किए। गौरव देषमुख, सेमेस्टर तृतीय ने सुझाव दिया कि इस वर्ष ऑनलाईन ही परीक्षाएं आयोजित की जाएं। पालकों/अभिभावकों द्वारा पूछे गए सभी प्रश्नों का समाधान दिया गया। 50 से अधिक सदस्य ऑनलाईन जुड़े। कार्यक्रम के अंत में धन्यवाद ज्ञापन देते हुए डॉ सोमाली गुप्ता ने कहा कि प्रत्येक छात्र/छात्रा का दायित्व है कि वह अपनी समस्याओं को अपने माता-पिता एवं शिक्षकों को जरूर बताएं। माता-पिता एवं प्राध्यापकों के सहयोग से ही विद्यार्थियों का संपूर्ण विकास हो सकता है। इस अवसर पर विभाग की विभागाध्यक्ष डॉ मीता चक्रवर्ती एवं अन्य सदस्यों – डॉ कमर तलत, डॉ मीना मान, डॉ मर्सी जॉर्ज एवं डॉ तरलोचन कौर संधू ने अपनी उपस्थिति एवं सहयोग दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *