• Sat. Apr 13th, 2024

Sunday Campus

Health & Education Together Build a Nation

गुस्ताफी माफ

  • Home
  • स्टूडेंट सुइसाइड : क्या खरा उतरेगी “उम्मीद”

स्टूडेंट सुइसाइड : क्या खरा उतरेगी “उम्मीद”

2011 से 2021 के बीच विद्यार्थियों की आत्महत्या के मामलों में 70 प्रतिशत की वृद्धि हुई है. ये आंकड़े एनसीआरबी ने जारी किये हैं. मेडिकल और इंजीनियरिंग की तैयारी के…

अस्तित्व की लड़ाई हार रहे शिल्पकार, मुफलिसी में बीत रहे दिन

माना जाता है कि शिल्पकारी शौक के साथ ही आजीविका का भी साधन हो सकती है. इसलिए देश के तमाम महाविद्यालयों में शिल्पकला का प्रशिक्षण दिया जाता है. हिन्दी फिल्मों…

पोर्न देखने से तो अच्छा है कैंडी क्रश खेलना

चुनावी सीजन में भाजपा छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को घेरने की हर कोशिश कर रही है. भाजपा मुख्यमंत्री के गिल्ली डंडा खेलने, गेड़ी चढ़ने की खिल्ली उड़ाती रही है.…

भूपेश बनाम मोदी के बीच कहां फिट होते हैं रमन

छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव पहले भूपेश बनाम मोदी का आभास करा रही थी. केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के बार-बार छत्तीसगढ़ आने से ऐसे संकेत मिल रहे…

पूजा आस्था गई भाड़ में, अब डीजे बिना सब सून

बिलासपुर के कोनी में युवकों ने एक आरक्षक की पिटाई कर उसकी वर्दी फाड़ दी. वहीं तिफरा के कुंदरापारा में कुछ युवकों पर चाकू से हमला कर दिया गया. दोनों…

राज्यों को विकास के लिए पैसा देकर कोई अहसान नहीं करती केन्द्र सरकार

छत्तीसगढ़ कांग्रेस में उप मुख्यमंत्री टीएस सिंहदेव के एक बयान को लेकर बवाल मचा हुआ है. सिंहदेव प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ मंच साझा कर रहे थे. जब प्रधानमंत्री ने…

अपनी मां वृद्धाश्रम में, गायों की फिक्र कौन करे

राजधानी के एक गौठान में लगभग आधा दर्जन गायों की मौत हो गई. पशु चिकित्सकों ने इस स्थल को मवेशियों के रहने के लिए अनुपयुक्त बताया. इसके बाद गायों को…

गुस्ताखी माफ: हर हाथ में मोबाइल, हर वाहन में पैनिक बटन

छत्तीसगढ़ सरकार ने एक महत्वपूर्ण कदम उठाते हुए अब प्रत्येक यात्री वाहन में पैनिक बटन और जीपीएस लगाने की घोषणा की है. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बुधवार को इस योजना…

गुस्ताखी माफ – नागलोक के बैगा-गुनिया बन गए मिसाल

नफरत कभी भी किसी समस्या का स्थायी हल नहीं हो सकता. हिंसा से हिंसा नहीं रोकी जा सकती. आंख के बदले आंख- बर्बरता और जहालत की निशानी है. ऐसे इलाज…

भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा से क्यों नहीं पूछे जाने चाहिए ये सवाल

संबित पात्रा का जन्म एक इस्पात कर्मचारी परिवार में हुआ. उनके पिता बोकारो स्टील प्लांट में सेवारत थे. उन्होंने सरकारी मेडिकल कालेज से एमबीबीएस और एमएस किया अर्थात देश ने…

गुस्ताखी माफ : धान का धान और चावल का चावल

केन्द्र सरकार प्रति क्विटंल धान 67 किलो चावल की अपनी जिद पर अड़ी है. छत्तीसगढ़ में होने वाली धान से इतना चावल निकलता ही नहीं. प्रति क्विंटल अरवा जहां केवल…

डायरिया ने किया बेदम; पीने के पानी में मानव मल के अंश

अजीब विडम्बना है कि जिसे धोकर हाथ साबुन से धोया था वह पाइप-लाइन के जरिये वापस थाली तक पहुंच गया. कोटा सहित बिलासपुर की कई बस्तियों के पेयजल में मानव…