भिलाई। एमजे कालेज जुनवानी में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के उपलक्ष्य में आज प्रात: सामूहिक रूप से आसन और प्राणायाम किये गये। महाविद्यालय की डायरेक्टर More »

भिलाई। संतोष रूंगटा ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशन्स कैम्पस में अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर विभिन्न आयोजन किये गये। छात्राओं तथा महिला फैकल्टीज ने इस अवसर पर दीवार More »

भिलाई। अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर अखिल विश्व गायत्री परिवार के महिला प्रकोष्ठ दीया वुमन विंग छत्तीसगढ़ द्वारा नारी सशक्तिकरण दिवस के रूप में More »

भिलाई। केबिनेट मंत्री प्रेम प्रकाश पाण्डेय ने आज सोनी लिव पर प्रस्तुत सुपर डांसर चैप्टर-2 की फाइनलिस्ट शगुन सिंह परी के लिए वोट मांगा। श्री More »

रायपुर। करियर और परिवार के बीच बेहतर सामंजस्य बैठाने के लिए बेटियों को भी अपना नजरिया बदलना होगा। टाइम मैनेजमेंट, पाजीटिव सोच और तनाव कम More »

 

Daily Archives: March 21, 2018

स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय में कविता लेखन प्रतियोगिता का आयोजन

भिलाई। विश्व कविता दिवस पर स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय हुडको में प्राध्यापकों द्वारा मेरी प्यारी बिटिया एवं विद्यार्थियों द्वारा देशभक्ति विषय पर कविता लेखन प्रतियोगिता का आयोजन किया गया जिसकी अध्यक्षता प्राचार्य डॉ. हंसा शुक्ला ने की। निर्णायकगण के रूप डॉ. श्रीमती शीला शर्मा, प्राध्यापक हिन्दी विभाग, शासकीय महाविद्यालय खुर्सीपार एवं डॉ. निशा शुक्ला विभागाध्यक्ष हिन्दी विभाग, भिलाई महिला महाविद्यालय, भिलाई उपस्थित हुये।भिलाई। विश्व कविता दिवस पर स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय हुडको में प्राध्यापकों द्वारा मेरी प्यारी बिटिया एवं विद्यार्थियों द्वारा देशभक्ति विषय पर कविता लेखन प्रतियोगिता का आयोजन किया गया जिसकी अध्यक्षता प्राचार्य डॉ. हंसा शुक्ला ने की। निर्णायकगण के रूप डॉ. श्रीमती शीला शर्मा, प्राध्यापक हिन्दी विभाग, शासकीय महाविद्यालय खुर्सीपार एवं डॉ. निशा शुक्ला विभागाध्यक्ष हिन्दी विभाग, भिलाई महिला महाविद्यालय, भिलाई उपस्थित हुये।

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare

नौकरियां निगल रही खिलाडिय़ों की प्रतिभा : नेहा

रायपुर। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी पर आधारित फिल्म 'माहीÓ तो आप सभी ने देखी होगी। माही का दर्द देशभर के खिलाड़ी झेल रहे हैं। उनकी जिंदगी खेल मैदान की जगह कागजों में उलझ गई हैं। केंद्रीय बोर्ड के अलग-अलग विभागों में काम कर रहे खिलाडिय़ों के खेलने के लिए कोई अतिरिक्त समय नहीं है। इसकी वजह से खिलाड़ी खुद की प्रतिभा से कंप्रोमाइज कर रहे हैं। रायपुर। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी पर आधारित फिल्म ‘माही’ तो आप सभी ने देखी होगी। माही का दर्द देशभर के खिलाड़ी झेल रहे हैं। उनकी जिंदगी खेल मैदान की जगह कागजों में उलझ गई हैं। केंद्रीय बोर्ड के अलग-अलग विभागों में काम कर रहे खिलाडिय़ों के खेलने के लिए कोई अतिरिक्त समय नहीं है। इसकी वजह से खिलाड़ी खुद की प्रतिभा से कंप्रोमाइज कर रहे हैं। 

Google GmailTwitterFacebookGoogle+WhatsAppShare