गुरू की सहायता से ही चंद्रगुप्त और अशोक सफल सम्राट बने

Science College Teachers Dayदुर्ग। साइंस कालेज दुर्ग में भौतिक शास्त्र विभाग और आईक्यूएसी के संयुक्त तत्वावधान में शिक्षक दिवस ऑनलाईन मनाया गया। संचालन करते हुए प्रतीक्षा तिवारी ने डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन की उपलब्धियों को बताया। लक्ष्मी प्रसाद मिश्रा ने बताया कि किस प्रकार गुरू की सहायता से चंद्र गुप्त और सम्राट अशोक ने भारतवर्ष की नींव रखीं। सुरभि शर्मा ने भौतिकी पर आधारित कविता को सुनाया कि सफलता से हमारा भी कोलिजन होगा जब दिल और दिमाग का फ्यूजन होगा। समता जैन ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि गुरू के बारे में लिखने बैठे तो शायद ही कुछ लिख पायेंगे। जिंदगी में अगर वो ना हो तो शायद ही कुछ बन पायेगें। आकर्षित ने स्वरचित कविता कुछ सीखते है कुछ सिखाते हैं, जो सिखाते है वो षिक्षक कहलाते हैं का पाठ किया। ओजस्वी और मेघा ने इस अवसर पर अपने विचार व्यक्त किये, जिसमें उन्होंने बताया कि शिक्षक भारतवर्ष में एक नयी कामयाबी एक नयी बुलंदियों को छूने के लिए हमें तैयार करते हैं।
नैक कोआर्डिनेटर डॉ. जगजीत कौर सलूजा ने बताया कि डॉ. राधाकृष्णन सादगी के प्रतीक थे। उनके क्रियाकलाप प्रत्येक शिक्षक के लिए अनुकरणीय है। विद्यार्थियों के चरित्र निर्माण में एक शिक्षक की भूमिका रहती है। वह विद्यार्थियों का प्ररेणा स्त्रोत होता है। इसीलिए शिक्षकों को चरित्रवान होना चाहिए। चरित्र निर्माण गुणवत्तापूर्ण नैतिक शिक्षण से ही संभव है।
विभागाध्यक्ष डॉ पूर्णा बोस ने कहा कि हमारे जीवन में माता-पिता के बाद शिक्षकगणों की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। हमारे माता-पिता जन्म देते है और परवरिश करते है लेकिन शिक्षक हमें योग्य बनाते हैं। डॉ. आर.एस. सिंह, डॉ. अनीता शुक्ला, श्रीमती सितेश्वरी चन्द्राकर ने बताया कि संसार के प्रत्येक व्यक्ति को सफल बनाने में उनके शिक्षकों का सहयोग एवं योगदान होता है।
कार्यक्रम आयोजक डॉ अभिषेक कुमार मिश्रा ने कहा कि शिक्षक देश का निर्माण व विकास कर सकता है व स्वयं जलकर विश्व को दीपमान कर सकता है। वास्तविक अर्थों में शिक्षक एक चरित्र है जो समाज की दिशा एवं दशा का निर्धारण करता है।
प्राचार्य डॉ आर.एन. सिंह ने प्राध्यापकों को शुभकामनाऐं देते हुए कहा कि शिक्षकों के प्रति सम्मान एवं आदर की भावना रखना तथा उनके बताये मार्गो पर चलना ही शिक्षक दिवस की महत्ता है। इस कार्यक्र्रम के दौरान भौतिक विज्ञान के प्राध्यापकों के साथ द्वितीय एवं चतुर्थ सेमेस्टर के विद्यार्थी उपस्थित थे। शिक्षक दिवस के उपलक्ष्य में भौतिक शास्त्र विभाग द्वारा एक दिवसीय ऑनलाईन क्विज प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। क्विज संयोजक डॉ अभिषेक मिश्रा ने जानकारी दी कि इस प्रतियोगिता में डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन एवं शिक्षा जगत से जुड़े हुये प्रश्नों को पूछा गया, जिसमें छत्तीसगढ़ समेत 6 राज्यों के प्रतिभागियों ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया। सफल हुये सभी प्रतिभागियों को संस्था द्वारा ई प्रमाण पत्र भी प्रदान किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *