भिलाई। ‘न तो श्रीकृष्ण रणछोड़ थे न ही नारद जी चुगलखोर। दोनों की प्रत्येक क्रिया के पीछे गहरी सोच हुआ करती थी। श्रीकृष्ण ने कालयवन More »

भिलाई। सेन्ट्रल एवेन्यू पर धूम मचाने वाली ‘तफरीह’ एक बार फिर प्रारंभ होने जा रही है। महापौर एवं विधायक देवेन्द्र यादव की यह महत्वाकांक्षी योजना More »

भिलाई। इंदु आईटी स्कूल में प्री-प्राइमरी विंग के नर्सरी से केजी-2 तक के नन्हे-मुन्ने बच्चों द्वारा श्रीकृष्ण जन्माष्टमी बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। More »

भिलाई। केपीएस के प्रज्ञोत्सव-2019 में आज शास्त्रीय नृत्यांगनाओं ने पौराणिक कथाओं को बेहद खूबसूरती के साथ मंच पर उतारा। भरतनाट्यम एवं कूचिपुड़ी कलाकारों ने महाभारत, More »

भिलाई। कृष्णा पब्लिक स्कूल कुटेलाभाटा ने 73वां स्वतंत्रता दिवस खुले, स्वच्छंद आकाश में ध्वजारोहण करते हर्षोल्लास के साथ मनाया। इस समारोह में स्कूल की बैण्ड More »

 

Daily Archives: August 4, 2019

रूंगटा डेन्टल में डेन्टल इनले तथा ऑनले तकनीक पर कार्यशाला का आयोजन

भिलाई। संजय रूंगटा ग्रुप ऑफ़ इंस्टीट्यूशन्स द्वारा संचालित रूंगटा डेंटल कॉलेज के कंसरवेटिव एंड एण्डोडोन्टिक्स डिपाटर्मेन्ट द्वारा एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। उपरोक्त कार्यशाला रायपुर मे आयोजित नेशनल जोनल कान्फ्रेन्स का हिस्सा है। जिसे की प्री- कान्फ्रेन्स के रूप में आयोजित किया गया। कार्यशाला मे चेन्नई के एक्सपर्ट डेन्टिस्ट डॉ आर. एस. मोहन ने डेन्टल इनले तथा ऑनले पर प्रशिक्षण दिया।भिलाई। संजय रूंगटा ग्रुप ऑफ़ इंस्टीट्यूशन्स द्वारा संचालित रूंगटा डेंटल कॉलेज के कंसरवेटिव एंड एण्डोडोन्टिक्स डिपाटर्मेन्ट द्वारा एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। उपरोक्त कार्यशाला रायपुर मे आयोजित नेशनल जोनल कान्फ्रेन्स का हिस्सा है। जिसे की प्री- कान्फ्रेन्स के रूप में आयोजित किया गया। कार्यशाला मे चेन्नई के एक्सपर्ट डेन्टिस्ट डॉ आर. एस. मोहन ने डेन्टल इनले तथा ऑनले पर प्रशिक्षण दिया।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

एमजे के कॉमर्स एंड मैनेजमेन्ट स्टूडेन्ट्स पहुंचे मैत्रीबाग, बनाएंगे रिवाइवल प्लान

भिलाई। कभी इस्पात नगरी की शान रहा मैत्रीबाग धीरे-धीरे गुमनामी के अंधेरे में खो रहा है। योजनाओं का अभाव, कुप्रबंधन और विजन के अभाव में इसका खर्च तक नहीं निकल पा रहा है। एमजे कालेज के कॉमर्स एंड मैनेजमेन्ट्स स्टूडेन्ट्स ने शनिवार को ऐतिहासिक मैत्रीबाग का भ्रमण किया तथा तथ्य जुटाए। साथ ही इस खूबसूरत उद्यान के रिवाइवल और लोगों को आकर्षित करने की संभावनाओं का अध्ययन किया। वे अपनी रिपोर्ट भिलाई इस्पात संयंत्र को सौंपेंगे।भिलाई। कभी इस्पात नगरी की शान रहा मैत्रीबाग धीरे-धीरे गुमनामी के अंधेरे में खो रहा है। योजनाओं का अभाव, कुप्रबंधन और विजन के अभाव में इसका खर्च तक नहीं निकल पा रहा है। एमजे कालेज के कॉमर्स एंड मैनेजमेन्ट स्टूडेन्ट्स ने शनिवार को ऐतिहासिक मैत्रीबाग का भ्रमण किया तथा तथ्य जुटाए। साथ ही इस खूबसूरत उद्यान के रिवाइवल और लोगों को आकर्षित करने की संभावनाओं का अध्ययन किया। वे अपनी रिपोर्ट भिलाई इस्पात संयंत्र को सौंपेंगे।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

महिला स्व सहायता समूह ने किया एक लाख का फायनेंस : पोलम्मा

भिलाई। मां राज-राजेश्वरी महिला स्व सहायता समूह एवं उसके साथी समूहों ने पिछले कुछ वर्षों में लघु बचत से अपनी एक अलग पहचान बना ली है। इनमें से प्रत्येक बचत समूह के खाते में अब 45 हजार से अधिक की जमा राशि है। एक महिला को फल का व्यवसाय करने के लिए राज राजेश्वरी महिला स्व सहायता समूह ने एक लाख रुपए की वित्तीय सहायता प्रदान की है। हरेली तिहार के अवसर पर महिला मां राज राजेश्वरी महिला स्व सहायता समूह की बी पोलम्मा ने उक्त जानकारी साझा की।भिलाई। मां राज-राजेश्वरी महिला स्व सहायता समूह एवं उसके साथी समूहों ने पिछले कुछ वर्षों में लघु बचत से अपनी एक अलग पहचान बना ली है। इनमें से प्रत्येक बचत समूह के खाते में अब 45 हजार से अधिक की जमा राशि है। एक महिला को फल का व्यवसाय करने के लिए राज राजेश्वरी महिला स्व सहायता समूह ने एक लाख रुपए की वित्तीय सहायता प्रदान की है। हरेली तिहार के अवसर पर महिला मां राज राजेश्वरी महिला स्व सहायता समूह की बी पोलम्मा ने उक्त जानकारी साझा की।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

Time Management : 10-10 मिनट को इकट्ठा करके निकाल लें दो-तीन घंटे : दीपक रंजन

भिलाई। हममें से सभी को ऐसा महसूस होता है कि हमारे पास वक्त नहीं है। यह स्थिति एक भरे हुए गिलास जैसी होती है। यह दिखती तो भरी हुई है पर इसमें नमक, चीनी जैसी घुलनशील चीजें मिलाई जा सकती हैं। कुछ ऐसा ही हम अपनी दिनचर्या में भी कर सकते हैं। हम देखेंगे कि समय के सही प्रबंधन से हमारे पास काफी वक्त निकल आएगा। उक्त बातें स्किल ट्रेनर संडेकैम्पस.कॉम के संपादक दीपक रंजन दास ने शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय खम्हरिया में व्यक्त किए।भिलाई। हममें से सभी को ऐसा महसूस होता है कि हमारे पास वक्त नहीं है। यह स्थिति एक भरे हुए गिलास जैसी होती है। यह दिखती तो भरी हुई है पर इसमें नमक, चीनी जैसी घुलनशील चीजें मिलाई जा सकती हैं। कुछ ऐसा ही हम अपनी दिनचर्या में भी कर सकते हैं। हम देखेंगे कि समय के सही प्रबंधन  Time Management से हमारे पास काफी वक्त निकल आएगा। उक्त बातें स्किल ट्रेनर संडेकैम्पस.कॉम के संपादक दीपक रंजन दास ने शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय खम्हरिया में व्यक्त किए।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare