भिलाई। इंदु आईटी स्कूल में प्री-प्राइमरी विंग के नर्सरी से केजी-2 तक के नन्हे-मुन्ने बच्चों द्वारा श्रीकृष्ण जन्माष्टमी बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। More »

भिलाई। केपीएस के प्रज्ञोत्सव-2019 में आज शास्त्रीय नृत्यांगनाओं ने पौराणिक कथाओं को बेहद खूबसूरती के साथ मंच पर उतारा। भरतनाट्यम एवं कूचिपुड़ी कलाकारों ने महाभारत, More »

भिलाई। कृष्णा पब्लिक स्कूल कुटेलाभाटा ने 73वां स्वतंत्रता दिवस खुले, स्वच्छंद आकाश में ध्वजारोहण करते हर्षोल्लास के साथ मनाया। इस समारोह में स्कूल की बैण्ड More »

भिलाई। संजय रूंगटा ग्रुप ऑफ़ इंस्टीट्यूशंस द्वारा संचालित रूंगटा पब्लिक स्कूल में 15 अगस्त को स्कूल प्रांगण में कक्षा नसर्री से पहली तक के बच्चों द्वारा More »

भिलाई। डीएवी इस्पात पब्लिक स्कूल सेक्टर -2 में रक्षाबंधन मनाया गया। इस त्यौहार को अग्रिम रूप से कक्षा नसर्री, एलकेजी तथा यूकेजी के छात्रों ने More »

 

Daily Archives: August 6, 2019

भोजन के पोषक तत्वों को हजम कर जाते हैं पेट के कीड़े, होती है बीमारी

8 अगस्त राष्ट्रीय कृमि दिवस पर कालेजों में भी खिलाई जाएगी दवा भिलाई-दुर्ग। वैसे तो सभी की आंतों में पेट के कीड़े अर्थात कृमि पाए जाते हैं पर यदि कृमियों की संख्या अधिक हो तो वे किए गए भोजन का अधिकांश पोषक भाग चट कर जाते हैं। इससे शरीर में कमजोरी, रक्ताल्पता, निमोनिया जैसे रोग उत्पन्न हो सकते हैं, मृत्यु भी हो सकती है। 8 अगस्त को राष्ट्रीय कृमि दिवस पर इस बार बच्चों के साथ ही कालेजों में पढ़ने वाले 19 वर्ष से कम उम्र के बच्चों को भी अल्बेंडाजोल की गोली खिलाई जाएगी।वा

भिलाई-दुर्ग। वैसे तो सभी की आंतों में पेट के कीड़े अर्थात कृमि पाए जाते हैं पर यदि कृमियों की संख्या अधिक हो तो वे किए गए भोजन का अधिकांश पोषक भाग चट कर जाते हैं। इससे शरीर में कमजोरी, रक्ताल्पता, निमोनिया जैसे रोग उत्पन्न हो सकते हैं, मृत्यु भी हो सकती है। 8 अगस्त को राष्ट्रीय कृमि दिवस पर इस बार बच्चों के साथ ही कालेजों में पढ़ने वाले 19 वर्ष से कम उम्र के बच्चों को भी अल्बेंडाजोल की गोली खिलाई जाएगी।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

मोटापा और डायबिटीज दोनों के लिए जिम्मेदार है गेहूं का सेवन : डॉ विलियम डेविस

नई दिल्ली। गेहूं का किसी भी रूप में सेवन बंद कर देने से न केवल आपका वजन कम हो सकता है बल्कि आपकी डायबिटीज की समस्या भी नियंत्रित हो सकती है। जिन देशों में लोग गेहूं का सेवन नहीं करते, वहां मोटापा भी नहीं के बराबर है। यह कहना है अमेरिका के कार्डियोलॉजिस्ट डॉ विलियम डेविस का। अपनी पुस्तक ‘व्हीट बेली’ (गेहूं तोंद) में वे लिखते हैं कि कमर के आसपास चर्बी जमा होने, एलडीएल कोलेस्ट्राल तथा रक्त शर्करा बढ़ाने में गेहूं का हाथ है।नई दिल्ली। गेहूं का किसी भी रूप में सेवन बंद कर देने से न केवल आपका वजन कम हो सकता है बल्कि आपकी डायबिटीज की समस्या भी नियंत्रित हो सकती है। जिन देशों में लोग गेहूं का सेवन नहीं करते, वहां मोटापा भी नहीं के बराबर है। यह कहना है अमेरिका के कार्डियोलॉजिस्ट डॉ विलियम डेविस का। अपनी पुस्तक ‘व्हीट बेली’ (गेहूं तोंद) में वे लिखते हैं कि कमर के आसपास चर्बी जमा होने, एलडीएल कोलेस्ट्राल तथा रक्त शर्करा बढ़ाने में गेहूं का हाथ है।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 खत्म: इन 8 प्वाइंट में समझिए फैसले की बड़ी बातें

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 को खत्म करने का फैसला किया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में कैबिनेट की बैठक में यह फैसला लिया गया, जिसका एलान गृहमंत्री अमित शाह ने राज्यसभा में किया जहां यह पारित हो गया जहां इसे 61 के मुकाबले 125 मतों से पारित कर दिया गया। गृहमंत्री अमित शाह ने संसद को बताया कि अनुच्छेद 370 को खत्म कर दिया गया है और इस आदेश पर राष्ट्रपति ने हस्ताक्षर कर दिए हैं। अनुच्छेद 370 के खत्म होने के साथ अनुच्छेद 35-ए भी खत्म हो गया है जिससे राज्य के 'स्थायी निवासी' की पहचान होती थी। सरकार ने अनुच्छेद 370 के खात्मे के साथ-साथ प्रदेश के पुनर्गठन का भी प्रस्ताव किया है।नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 को खत्म करने का फैसला किया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में कैबिनेट की बैठक में यह फैसला लिया गया, जिसका एलान गृहमंत्री अमित शाह ने राज्यसभा में किया जहां यह पारित हो गया जहां इसे 61 के मुकाबले 125 मतों से पारित कर दिया गया। गृहमंत्री अमित शाह ने संसद को बताया कि अनुच्छेद 370 को खत्म कर दिया गया है और इस आदेश पर राष्ट्रपति ने हस्ताक्षर कर दिए हैं। अनुच्छेद 370 के खत्म होने के साथ अनुच्छेद 35-ए भी खत्म हो गया है जिससे राज्य के ‘स्थायी निवासी’ की पहचान होती थी। सरकार ने अनुच्छेद 370 के खात्मे के साथ-साथ प्रदेश के पुनर्गठन का भी प्रस्ताव किया है।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare