भिलाई। इंदु आईटी स्कूल में प्री-प्राइमरी विंग के नर्सरी से केजी-2 तक के नन्हे-मुन्ने बच्चों द्वारा श्रीकृष्ण जन्माष्टमी बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। More »

भिलाई। केपीएस के प्रज्ञोत्सव-2019 में आज शास्त्रीय नृत्यांगनाओं ने पौराणिक कथाओं को बेहद खूबसूरती के साथ मंच पर उतारा। भरतनाट्यम एवं कूचिपुड़ी कलाकारों ने महाभारत, More »

भिलाई। कृष्णा पब्लिक स्कूल कुटेलाभाटा ने 73वां स्वतंत्रता दिवस खुले, स्वच्छंद आकाश में ध्वजारोहण करते हर्षोल्लास के साथ मनाया। इस समारोह में स्कूल की बैण्ड More »

भिलाई। संजय रूंगटा ग्रुप ऑफ़ इंस्टीट्यूशंस द्वारा संचालित रूंगटा पब्लिक स्कूल में 15 अगस्त को स्कूल प्रांगण में कक्षा नसर्री से पहली तक के बच्चों द्वारा More »

भिलाई। डीएवी इस्पात पब्लिक स्कूल सेक्टर -2 में रक्षाबंधन मनाया गया। इस त्यौहार को अग्रिम रूप से कक्षा नसर्री, एलकेजी तथा यूकेजी के छात्रों ने More »

 

Daily Archives: August 1, 2019

साइंस कालेज, दुर्ग में वनस्पति शास्त्र विभाग द्वारा हरेली पर्व का आयोजन

दुर्ग। महाविद्यालय में छत्तीसगढ़ शासन के निर्देशानुसार छत्तीसगढ़ी संस्कृति के संरक्षण तथा संवर्धन के लिए हरेली पर्व सभी छात्रों एवं प्राध्यापकों ने उत्साव पूर्वक मनाया। हरेली पर्व के अंतर्गत वनस्पति शास्त्र विभाग द्वारा आयोजित कार्यक्रम में सर्वप्रथम चित्रकला एवं पोस्टर प्रतियोगिता का आयोजन किया गया, जिसमें महाविद्यालय के बी.ए., बीएससी तथा एमएससी के छात्रों ने उत्साहजनक तरीके से भाग लिया साथ ही वनस्पति शास्त्र विभाग द्वारा हरेली पर्व पर ‘परिचर्चा’ कार्यक्रम का आयोजन किया गया।दुर्ग। महाविद्यालय में छत्तीसगढ़ शासन के निर्देशानुसार छत्तीसगढ़ी संस्कृति के संरक्षण तथा संवर्धन के लिए हरेली पर्व सभी छात्रों एवं प्राध्यापकों ने उत्साव पूर्वक मनाया। हरेली पर्व के अंतर्गत वनस्पति शास्त्र विभाग द्वारा आयोजित कार्यक्रम में सर्वप्रथम चित्रकला एवं पोस्टर प्रतियोगिता का आयोजन किया गया, जिसमें महाविद्यालय के बी.ए., बीएससी तथा एमएससी के छात्रों ने उत्साहजनक तरीके से भाग लिया साथ ही वनस्पति शास्त्र विभाग द्वारा हरेली पर्व पर ‘परिचर्चा’ कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

गर्ल्स कॉलेज में प्रेमचंद जयंती पर कहानी लेखन कार्यशाला

दुर्ग। शासकीय डॉ वावा पाटणकर कन्या स्नातकोत्तर महाविद्यालय दुर्ग में हिन्दी विभाग के द्वारा प्रेमचंद जयंती के अवसर पर स्वरचित कहानी लेखन कायर्शाला का आयोजन किया। आयोजन के मुख्य अतिथि अंचल के व्याख्यात रचनाकार शरद कोकास जी थे एवं अध्यक्षता महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. सुशील चन्द्र तिवारी ने की। इस कायर्शाला में महाविद्यालय की 12 छात्राओं ने कहानियां लिखीं। एम.ए. हिन्दी की दुर्गा कुमारी, मोनिक यादव एवं विभा कसेर ने बेटियाँ, बुढ़ापा एवं मेहनत की कमाई शीर्षक से कहानियाँ लिखीं। दुर्ग। शासकीय डॉ वावा पाटणकर कन्या स्नातकोत्तर महाविद्यालय दुर्ग में हिन्दी विभाग के द्वारा प्रेमचंद जयंती के अवसर पर स्वरचित कहानी लेखन कायर्शाला का आयोजन किया। आयोजन के मुख्य अतिथि अंचल के व्याख्यात रचनाकार शरद कोकास जी थे एवं अध्यक्षता महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. सुशील चन्द्र तिवारी ने की। इस कायर्शाला में महाविद्यालय की 12 छात्राओं ने कहानियां लिखीं। एम.ए. हिन्दी की दुर्गा कुमारी, मोनिक यादव एवं विभा कसेर ने बेटियाँ, बुढ़ापा एवं मेहनत की कमाई शीर्षक से कहानियाँ लिखीं।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

स्वरूपानंद महाविद्यालय में हरेली पर लगाए पेड़, चढ़े गेड़ी

भिलाई। स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय में हरेली उत्सव का आयोजन किया गया जिसमें विभिन्न कार्यक्रम कराये गये। महाविद्यालय परिसर को विद्यार्थियों द्वारा नीम और आम के पत्तों से बने तोरन से सजाया गया। शिक्षकों एवं विद्यार्थियों के लिये हरी हरे वेशभूषा एवं श्रृंगार प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। प्राध्यापक एवं विद्यार्थी पत्ती एवं फूलों से बने गहने पहनकर परिसर में उपस्थित हुये। महाविद्यालय परिसर में हरियाली की छटा देखते ही बनती थी।भिलाई। स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय में हरेली उत्सव का आयोजन किया गया जिसमें विभिन्न कार्यक्रम कराये गये। महाविद्यालय परिसर को विद्यार्थियों द्वारा नीम और आम के पत्तों से बने तोरन से सजाया गया। शिक्षकों एवं विद्यार्थियों के लिये हरी हरे वेशभूषा एवं श्रृंगार प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। प्राध्यापक एवं विद्यार्थी पत्ती एवं फूलों से बने गहने पहनकर परिसर में उपस्थित हुये। महाविद्यालय परिसर में हरियाली की छटा देखते ही बनती थी।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

बीकॉम में कन्या महाविद्यालय का उत्कृष्ट परीक्षाफल, 92 फीसदी उत्तीर्ण

दुर्ग। शासकीय डॉ वावा पाटणकर कन्या स्नातकोत्तर महाविद्यालय दुर्ग की छात्राएँ खेल स्पर्धाओं में तो अपना परचम लहराती है। विश्वविद्यालय परीक्षाओं में भी बीकॉम की छात्राओं ने कीर्तिमान बनाया है। बीकॉम प्रथम वर्ष की परीक्षा में 328 छात्राएँ शामिल हुई जिसमें 302 उत्तीर्ण हुई, 15 छात्राओं को पूरक की पात्रता मिली है। जबकि स्नातक प्रथम वर्ष का विश्वविद्यालय का परिणाम 47 प्रतिशत रहा है।दुर्ग। शासकीय डॉ वावा पाटणकर कन्या स्नातकोत्तर महाविद्यालय दुर्ग की छात्राएँ खेल स्पर्धाओं में तो अपना परचम लहराती है। विश्वविद्यालय परीक्षाओं में भी बीकॉम की छात्राओं ने कीर्तिमान बनाया है। बीकॉम प्रथम वर्ष की परीक्षा में 328 छात्राएँ शामिल हुई जिसमें 302 उत्तीर्ण हुई, 15 छात्राओं को पूरक की पात्रता मिली है। जबकि स्नातक प्रथम वर्ष का विश्वविद्यालय का परिणाम 47 प्रतिशत रहा है।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

हमारे जीवन से जुड़े हुए हैं मुंशी प्रेमचंद की कहानियों के पात्र

भिलाई। चित्रांश भवन सेक्टर-6 में मुंशी प्रेमचंद की जयंती मनाई गई। इस अवसर पर वक्ताओं ने कहा कि मुंशी प्रेमचंद ने अपने आसपास घटने वाली घटनाओं को विषय बनाया। उनकी कहानियों के पात्र हमारे अपने बीच के लगते हैं। उनकी कहानियों में भारतीय जन जीवन का यथार्थ झलकता है। वे आधुनिक साहित्य के अग्रज हैं और आज भी रचनाकारों को प्रेरित करते हैं। वक्ताओं ने मुंशीजी की कहानियों, उपन्यासों का उल्लेख करते हुए उनसे प्रेरणा लेने की बात भी कही।भिलाई। चित्रांश भवन सेक्टर-6 में मुंशी प्रेमचंद की जयंती मनाई गई। इस अवसर पर वक्ताओं ने कहा कि मुंशी प्रेमचंद ने अपने आसपास घटने वाली घटनाओं को विषय बनाया। उनकी कहानियों के पात्र हमारे अपने बीच के लगते हैं। उनकी कहानियों में भारतीय जन जीवन का यथार्थ झलकता है। वे आधुनिक साहित्य के अग्रज हैं और आज भी रचनाकारों को प्रेरित करते हैं। वक्ताओं ने मुंशीजी की कहानियों, उपन्यासों का उल्लेख करते हुए उनसे प्रेरणा लेने की बात भी कही।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare