भिलाई। इंदु आईटी स्कूल में प्री-प्राइमरी विंग के नर्सरी से केजी-2 तक के नन्हे-मुन्ने बच्चों द्वारा श्रीकृष्ण जन्माष्टमी बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। More »

भिलाई। केपीएस के प्रज्ञोत्सव-2019 में आज शास्त्रीय नृत्यांगनाओं ने पौराणिक कथाओं को बेहद खूबसूरती के साथ मंच पर उतारा। भरतनाट्यम एवं कूचिपुड़ी कलाकारों ने महाभारत, More »

भिलाई। कृष्णा पब्लिक स्कूल कुटेलाभाटा ने 73वां स्वतंत्रता दिवस खुले, स्वच्छंद आकाश में ध्वजारोहण करते हर्षोल्लास के साथ मनाया। इस समारोह में स्कूल की बैण्ड More »

भिलाई। संजय रूंगटा ग्रुप ऑफ़ इंस्टीट्यूशंस द्वारा संचालित रूंगटा पब्लिक स्कूल में 15 अगस्त को स्कूल प्रांगण में कक्षा नसर्री से पहली तक के बच्चों द्वारा More »

भिलाई। डीएवी इस्पात पब्लिक स्कूल सेक्टर -2 में रक्षाबंधन मनाया गया। इस त्यौहार को अग्रिम रूप से कक्षा नसर्री, एलकेजी तथा यूकेजी के छात्रों ने More »

 

Daily Archives: August 7, 2019

नवजात शिशु के लिए अमृत है स्तनपान, इसलिए कहते हैं तरल प्रेम : श्रीलेखा

एमजे कॉलेज ऑफ नर्सिंग में विश्व स्तनपान सप्ताह का समापन

भिलाई। एमजे कॉलेज ऑफ नर्सिंग में आज विश्व स्तन पान सप्ताह का समापन किया गया। इस अवसर पर नर्सिंग स्टूडेन्ट्स ने रोचक जानकारियों के साथ पीपीटी के सहयोग से प्रजेन्टेशन दिया। उन्होंने नाटकों के द्वारा स्तन पान के महत्व को समझाया तथा शिक्षितों वर्किंग क्लास पर कटाक्ष भी किए। स्टूडेन्ट्स के बीच स्तनपान की थीम पर हेल्दी रेसिपी और स्तनपान पर रंगोली प्रतियोगिता का भी आयोजन किया गया।  कार्यक्रम का उद्घाटन महाविद्यालय की डायरेक्टर श्रीलेखा विरुलकर ने किया। उन्होंने कहा कि मां के दूध को तरल प्रेम भी कहा जाता है। यह वह धारा है जो मां एवं बच्चे को एक अटूट बंधन में बांधती है। यह न केवल शिशु के स्वस्थ विकास एवं निरोगी भविष्य के लिए आवश्यक है बल्कि स्तान पान कराने से स्वयं प्रसूता के स्वास्थ्य में भी तेजी से सुधार होता है। गर्भाशय को पूर्वावस्था में लौटाने में इसकी महति भूमिका है।भिलाई। एमजे कॉलेज ऑफ नर्सिंग में आज विश्व स्तनपान सप्ताह का समापन किया गया। इस अवसर पर नर्सिंग स्टूडेन्ट्स ने रोचक जानकारियों के साथ पीपीटी के सहयोग से प्रजेन्टेशन दिया। उन्होंने नाटकों के द्वारा स्तन पान के महत्व को समझाया तथा शिक्षितों वर्किंग क्लास पर कटाक्ष भी किए।  कार्यक्रम का उद्घाटन महाविद्यालय की डायरेक्टर श्रीलेखा विरुलकर ने किया। उन्होंने कहा कि मां के दूध को तरल प्रेम भी कहा जाता है। यह वह धारा है जो मां एवं बच्चे को एक अटूट बंधन में बांधती है। यह न केवल शिशु के स्वस्थ विकास एवं निरोगी भविष्य के लिए आवश्यक है बल्कि स्तनपान कराने से स्वयं प्रसूता के स्वास्थ्य में भी तेजी से सुधार होता है। गर्भाशय को पूर्वावस्था में लौटाने में इसकी महति भूमिका है।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

नहीं रही देश की होनहार बेटी और बहन सुषमा, कुछ ऐसा रहा सफर

नई दिल्ली।   छात्र जीवन से ही अपनी आवाज मुखर करने वाली देश की होनहार बेटी और बहन सुषमा आज हमारे बीच नहीं हैं। शायद वे कश्मीर से धारा 370 के खात्मे का ही इंतजार कर रही थीं। उन्होंने अपने आखिरी ट्वीट में भी इस बात का जिक्र किया। कमजोरों की आवाज रहीं सुषमा का पूरा जीवन एक ऐसी अग्निशिखा की कहानी है जिसने अनेक तूफानों का सामना किया। हर मोर्चे पर अपनी छाप छोड़ी। राजनीतिक गुरू की विरासत को संभाला, दिल्ली की पहली महिला मुख्यमंत्री बनीं, प्रभावशाली विदेशमंत्री और पार्टी की मुखर आवाज बनीं। उनका पूरा जीवन एक प्रेरक चलचित्र की भांति करोड़ों देशवासियों का मार्गदर्शन करता रहेगा।नई दिल्ली।   छात्र जीवन से ही अपनी आवाज मुखर करने वाली देश की होनहार बेटी और बहन सुषमा आज हमारे बीच नहीं हैं। शायद वे कश्मीर से धारा 370 के खात्मे का ही इंतजार कर रही थीं। उन्होंने अपने आखिरी ट्वीट में भी इस बात का जिक्र किया। कमजोरों की आवाज रहीं सुषमा का पूरा जीवन एक ऐसी अग्निशिखा की कहानी है जिसने अनेक तूफानों का सामना किया। हर मोर्चे पर अपनी छाप छोड़ी। राजनीतिक गुरू की विरासत को संभाला, दिल्ली की पहली महिला मुख्यमंत्री बनीं, प्रभावशाली विदेशमंत्री और पार्टी की मुखर आवाज बनीं। उनका पूरा जीवन एक प्रेरक चलचित्र की भांति करोड़ों देशवासियों का मार्गदर्शन करता रहेगा।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

स्वरूपानंद महाविद्यालय में सेट की नि:शुल्क कोचिंग आठ अगस्त से

भिलाई। स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय में सीजी-सेट की नि:शुल्क कोचिंग कक्षाएं आठ अगस्त से प्रारंभ की जा रही है। कक्षाओं का समय 3 बजे से 4:30 बजे तक रखा गया है। महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ. हंसा शुक्ला ने बताया लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित सहायक प्राध्यापक प्रवेश परीक्षा के लिए नेट या सेट या पी.एच.डी आवश्यक योग्यता रखी गई है। इसे ध्यान में रखते हुये हिन्दी, वाणिज्य व लाइफ साइंस विषय के लिए कोचिंग कक्षाएं प्रारंभ की जा रही है। अनुभवी नेट,सेट,गेट उत्तीर्ण शिक्षकों द्वारा यह क्लासेस ली जाऐगी।भिलाई। स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय में सीजी-सेट की नि:शुल्क कोचिंग कक्षाएं आठ अगस्त से प्रारंभ की जा रही है। कक्षाओं का समय 3 बजे से 4:30 बजे तक रखा गया है। महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ. हंसा शुक्ला ने बताया लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित सहायक प्राध्यापक प्रवेश परीक्षा के लिए नेट या सेट या पी.एच.डी आवश्यक योग्यता रखी गई है। इसे ध्यान में रखते हुये हिन्दी, वाणिज्य व लाइफ साइंस विषय के लिए कोचिंग कक्षाएं प्रारंभ की जा रही है। अनुभवी नेट,सेट,गेट उत्तीर्ण शिक्षकों द्वारा यह क्लासेस ली जाऐगी।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

गृहमंत्री ताम्रध्वज ने किया गोंड़गिरी के हायर सेकण्ड्री स्कूल का लोकार्पण

बेमेतरा। प्रदेश के गृह जेल एवं लोकनिर्माण मंत्री ताम्रध्वज साहू ने अनुविभाग मुख्यालय बेरला प्रवास के दौरान ग्राम गोंडगिरी के हायर सेकंड्री स्कूल का लोकार्पण किया। राज्य शासन द्वारा इस भवन के निर्माण के लिए एक करोड़ 21 लाख 16 हजार रूपए की धनराशि स्वीकृत की गई थी इसके बन जाने से आस पास के गांवों के स्कूली बच्चों को इसकी सुविधा मिलेगी। श्री साहू ने इसके लिए अपनी बधाई एवं शुभकामनाएं दी।बेमेतरा। प्रदेश के गृह जेल एवं लोकनिर्माण मंत्री ताम्रध्वज साहू ने अनुविभाग मुख्यालय बेरला प्रवास के दौरान ग्राम गोंडगिरी के हायर सेकंड्री स्कूल का लोकार्पण किया। राज्य शासन द्वारा इस भवन के निर्माण के लिए एक करोड़ 21 लाख 16 हजार रूपए की धनराशि स्वीकृत की गई थी इसके बन जाने से आस पास के गांवों के स्कूली बच्चों को इसकी सुविधा मिलेगी। श्री साहू ने इसके लिए अपनी बधाई एवं शुभकामनाएं दी।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare