धमतरी। बांस से तो हम सभी परिचित हैं। बांस से बनी सजावटी वस्तुओं के बारे में भी हम सभी जानते हैं पर बांस से जेवर More »

भिलाई। ‘न तो श्रीकृष्ण रणछोड़ थे न ही नारद जी चुगलखोर। दोनों की प्रत्येक क्रिया के पीछे गहरी सोच हुआ करती थी। श्रीकृष्ण ने कालयवन More »

भिलाई। सेन्ट्रल एवेन्यू पर धूम मचाने वाली ‘तफरीह’ एक बार फिर प्रारंभ होने जा रही है। महापौर एवं विधायक देवेन्द्र यादव की यह महत्वाकांक्षी योजना More »

भिलाई। इंदु आईटी स्कूल में प्री-प्राइमरी विंग के नर्सरी से केजी-2 तक के नन्हे-मुन्ने बच्चों द्वारा श्रीकृष्ण जन्माष्टमी बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। More »

भिलाई। केपीएस के प्रज्ञोत्सव-2019 में आज शास्त्रीय नृत्यांगनाओं ने पौराणिक कथाओं को बेहद खूबसूरती के साथ मंच पर उतारा। भरतनाट्यम एवं कूचिपुड़ी कलाकारों ने महाभारत, More »

 

Daily Archives: August 3, 2019

प्रेमचंद हमारी भाषा के पहले यथार्थवादी लेखक – डॉ. जय प्रकाश

दुर्ग। शासकीय विश्वनाथ यादव तामस्कर स्वशासी स्नातकोत्तर महाविद्यालय, दुर्ग में हिन्दी साहित्य समिति तथा हिन्दी विभाग द्वारा विवेकानंद सभागार में प्रेमचंद जयंती समारोह का आयोजन किया गया। समारोह की अध्यक्षता प्रभारी प्राचार्य डॉ. ओ. पी. गुप्ता ने की। इस अवसर पर विद्यार्थियों को संबोधित करते डॉ. जय प्रकाश ने कहा प्रेमचंद एक महान कथाकार थे। विश्व साहित्य में उन्हें लू शुन तथा गोर्की के समकक्ष रखा जा सकता है। ये तीनों अपने-अपने देश में जीवन के यथार्थ को चित्रित कर रहे थे, खासकर मजदूर किसान उनके मुख्य विषय रहे।दुर्ग। शासकीय विश्वनाथ यादव तामस्कर स्वशासी स्नातकोत्तर महाविद्यालय, दुर्ग में हिन्दी साहित्य समिति तथा हिन्दी विभाग द्वारा विवेकानंद सभागार में प्रेमचंद जयंती समारोह का आयोजन किया गया। समारोह की अध्यक्षता प्रभारी प्राचार्य डॉ. ओ. पी. गुप्ता ने की। इस अवसर पर विद्यार्थियों को संबोधित करते डॉ. जय प्रकाश ने कहा प्रेमचंद एक महान कथाकार थे। विश्व साहित्य में उन्हें लू शुन तथा गोर्की के समकक्ष रखा जा सकता है। ये तीनों अपने-अपने देश में जीवन के यथार्थ को चित्रित कर रहे थे, खासकर मजदूर किसान उनके मुख्य विषय रहे।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

ओरिएंटेशन के साथ संजय रूंगटा समूह में नए फार्मेसी कॉलेज का हुआ शुभांरभ

भिलाई। छत्तीसगढ़ ही नहीं बल्कि पूरे देश में उच्च शिक्षा के क्षेत्र में अपनी विशिष्ट पहचान कायम करने वाले संजय रूंगटा ग्रुप ऑफ़ इंस्टीट्यूशंस में आज रूंगटा इंस्टीट्यूट आॅफ फार्मास्युटिकल साइंसेज में नवप्रवेशित छात्रों के लिए ओरिएंटेशन समारोह का आयोजन किया गया। ज्ञात हो की ग्रुप के नए अध्याय के रूप में इस महाविद्यालय में डिप्लोमा इन फार्मेसी व बैचलर इन फार्मेसी की पढ़ाई होगी। रूंगटा इंस्टीट्यूट ऑफ़ फार्मास्युटिकल साइंसेज में प्रथम वर्ष में ही 100 प्रतिशत सीटें भर चुकी है।भिलाई। छत्तीसगढ़ ही नहीं बल्कि पूरे देश में उच्च शिक्षा के क्षेत्र में अपनी विशिष्ट पहचान कायम करने वाले संजय रूंगटा ग्रुप ऑफ़ इंस्टीट्यूशंस में आज रूंगटा इंस्टीट्यूट ऑफ़ फार्मास्युटिकल साइंसेज में नवप्रवेशित छात्रों के लिए ओरिएंटेशन समारोह का आयोजन किया गया। ज्ञात हो की ग्रुप के नए अध्याय के रूप में इस महाविद्यालय में डिप्लोमा इन फार्मेसी व बैचलर इन फार्मेसी की पढ़ाई होगी। रूंगटा इंस्टीट्यूट ऑफ़ फार्मास्युटिकल साइंसेज में प्रथम वर्ष में ही 100 प्रतिशत सीटें भर चुकी है।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

श्री शंकराचार्य टेक्निकल कैंपस में एमबीए इंडक्शन प्रोग्राम का आयोजन

दुर्ग। श्री शंकराचार्य टेक्निकल कैंपस के अंतर्गत संचालित फैकल्टी आॅफ मैनेजमेंट स्टडीज में एमबीए की कक्षा का शुभारम्भ 2 अगस्त, 2019 को किया गया। संस्था के चेयरमैन आईपी मिश्र, अध्यक्ष श्रीमती जया अभिषेक मिश्रा एवं संस्था के निदेशक डॉ. पी. बी. देशमुख उपस्थित थे। श्री मिश्र ने अपने संक्षिप्त उद्बोधन में विद्यार्थियों को समय के साथ विश्व पटल में होने वाले बदलाव के अनुसार स्वयं के आचार-विचार एवं व्यवहार में निरंतर परिवर्तन करने की समझाइश दी।दुर्ग। श्री शंकराचार्य टेक्निकल कैंपस के अंतर्गत संचालित फैकल्टी ऑफ़ मैनेजमेंट स्टडीज में एमबीए की कक्षा का शुभारम्भ 2 अगस्त, 2019 को किया गया। संस्था के चेयरमैन आईपी मिश्र, अध्यक्ष श्रीमती जया अभिषेक मिश्रा एवं संस्था के निदेशक डॉ. पी. बी. देशमुख उपस्थित थे। श्री मिश्र ने अपने संक्षिप्त उद्बोधन में विद्यार्थियों को समय के साथ विश्व पटल में होने वाले बदलाव के अनुसार स्वयं के आचार-विचार एवं व्यवहार में निरंतर परिवर्तन करने की समझाइश दी।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare

30 शासकीय महाविद्यालयों के प्राचार्यों ने किया साइंस कालेज का भ्रमण

दुर्ग। शासकीय विश्वनाथ यादव तामस्कर स्वशासी महाविद्यालय में छत्तीसगढ़ उच्च शिक्षा विभाग के द्वारा निमोरा प्रशिक्षण केंद्र में 21 दिवसीय प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे करीब 30 शासकीय महाविद्यालयों के स्नातक एवं स्नातकोत्तर प्राचार्यों ने भ्रमण किया। महाविद्यालय के प्रभारी प्राचार्य डॉ. ओ. पी. गुप्ता ने बताया कि 21 दिवसीय प्रशिक्षण के दौरान प्राचार्यों को एक दिन ए ग्रेड प्राप्त पं. रविशंकर शुक्ल वि. वि. रायपुर तथा ए प्लस ग्रेड प्राप्त साइंस कॉलेज दुर्ग का भ्रमण कराया गया जिसमें यहां प्राप्त उपलब्धियों एवं संसाधनों का विकास वे प्राचार्य अपने-अपने महाविद्यालयों में कर सकें।दुर्ग। शासकीय विश्वनाथ यादव तामस्कर स्वशासी महाविद्यालय में छत्तीसगढ़ उच्च शिक्षा विभाग के द्वारा निमोरा प्रशिक्षण केंद्र में 21 दिवसीय प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे करीब 30 शासकीय महाविद्यालयों के स्नातक एवं स्नातकोत्तर प्राचार्यों ने भ्रमण किया। महाविद्यालय के प्रभारी प्राचार्य डॉ. ओ. पी. गुप्ता ने बताया कि 21 दिवसीय प्रशिक्षण के दौरान प्राचार्यों को एक दिन ए ग्रेड प्राप्त पं. रविशंकर शुक्ल वि. वि. रायपुर तथा ए प्लस ग्रेड प्राप्त साइंस कॉलेज दुर्ग का भ्रमण कराया गया जिसमें यहां प्राप्त उपलब्धियों एवं संसाधनों का विकास वे प्राचार्य अपने-अपने महाविद्यालयों में कर सकें।

Google GmailTwitterFacebookWhatsAppShare